शनिवार को आम लोगों के लिए खुला रहेगा सुप्रीम कोर्ट

आम लोगों के लिए खुले सुप्रीम कोर्ट के दरवाजे

देश

कोई भी इंसान कोर्ट मे नहीं जाना चाहेगा. खासकर भारत मे तो कतई नहीं. जहॉं इन्साफ के लिए दशकों लम्बा इंतज़ार करना पड़ता है. लेकिन हाल ही मे सुप्रीम कोर्ट का एक फैसला आया है. जिसके बाद हर कोई खुशी-खुशी सुप्रीम कोर्ट जाना चाहेगा. नये चीफ़ जस्टिस रंजन गोगोई ने आम लोगों के लिए सुप्रीम कोर्ट के दरवाजे खोल दिये है. अब हर शनिवार को आम लोग सुप्रीम कोर्ट मे घूम सकते है.

इससे पहले केवल जज,वकील,और चुनिंदा पत्रकार ही सुप्रीम कोर्ट मे जा सकते थे. 10 बजे से 1 बजे के बीच आम लोग सुप्रीम कोर्ट की विजिट कर सकते है. अगर किसी शनिवार को सरकारी अवकाश हुआ. तो आम लोगों के लिए भी कोर्ट बंद रहेगा. इस दौरान पर्यटकों को सुप्रीम कोर्ट की ऐतिहासिक इमारत के इतिहास के बारे मे बताया जायेगा. और दर्शकों को कोर्टरूम भी दिखाया जायेगा.

कैसे बुक करना है सुप्रीम कोर्ट का ट्यूर?

सबसे पहले सुप्रीम कोर्ट ऑफ़ इंडिया की offical site पर जाये. उसके बाद guided tour के लिंक पर क्लिक करे. उसके बाद रजिस्ट्रेशन का ऑप्शन आयेगा. और उसके बाद एक फॉर्म भरना पड़ेगा. इसके बाद कंफ़र्ममेसन का मैसेज SMS या ईमेल के द्वारा आयेगा. इस ट्यूर के लिए कोई फीस नहीं ली जायेगी.

कौन-कौन सी बाते ध्यान मे रखनी है?

1. अपने साथ जितना हो सके कम से कम सामान ले जाये. क्योंकि वहाँ सामान रखने की कोई जगह उपलब्ध नहीं करवाईं जायेगी.

2. कैमरा और स्मार्टफ़ोन से फोटो खीचने पर सख्त मनाही है.

3.  पर्यटकों को तय समय से आधा घंटा पहले पीआरओ ऑफिस मे रिपोर्ट करना होगा. जो गेट नंबर D से अंदर जाने पर आयेगा.

4. सुप्रीम कोर्ट के अंदर पान, गुटका, और खाने का सामान ले जाना मना है.

5. परिसर के अंदर धूम्रपान पर पाबंदी है.

6. सुप्रीम कोर्ट के अंदर लगी पेंटिंग, और आर्ट से रिलेटेड वस्तुओं को छूने की मनाही है.

7. पर्यटकों को अपने साथ इलेक्ट्रॉनिक रजिस्ट्रेशन स्लिप(ERS) और एक ओरिजनल आईडी लेकर आनी होगी. और विदेशी पर्यटकों को अपने साथ पासपोर्ट लेकर आना होगा.

ट्यूर से संबंधित किसी भी जानकारी के लिए pro.sc@sci.nic.in पर मेल कर के पूछ सकते है. और हेल्पलाइन नंबर 011-23385347 पर भी फ़ोन कर के पता कर सकते है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *