Rangana Herath

रंगना हैराथ का सन्यास का ऐलान

खेल

श्रीलंका और इंग्लैंड के बीच 6 नवंबर से शुरू होने जा रहा है. टेस्ट श्रृंखला के पहले मैच के बाद श्रीलंका के एक मुख्य स्पिन गेंदबाज रंगना हैराथ ने टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कहने का एलान कर दिया है. रंगना हैराथ मुथैया मुरलीधरन के बाद श्रीलंका के सबसे सफल स्पिन गेंदबाज रहें हैं. इससे श्रीलंका की टीम को बड़ा झटका लगा है.

गॉल का ग्राउंड और हैराथ

सवाल यह उठता है कि मुश्किल दौर से गुज़र रही श्रीलंकाई क्रिकेट टीम से इसी टेस्ट के बाद ही विदाई का निर्णय क्यों लिया ?

उसका एक मुख्य कारण यह है की हेराथ ने इसी ग्राउंड से 1999 में अपने कैरियर के पदार्पण किया था. और एक और दिलचस्प बात यह है कि मुथैया मुरलीधरन ने इस ग्राउंड पे सबसे अधिक 100 विकेट लिए हैं. अगर रंगना हैराथ होने वाले टेस्ट में एक और विकेट लेते हैं तो वो मुरलीधरन की बराबरी कर लेंगे. वो इस ग्राउंड पर 100 विकेट लेने वाले दूसरे श्रीलंकाई गेंदबाज होंगे.

रंगना हैराथ का प्रदर्शन

आज की श्रीलंकाई टीम के सबसे उम्रदराज कप्तान की भूमिका निभाने वाले हेराथ ने टेस्ट करियर में कुल 92 टेस्ट मैच खेले हैं और 430 विकेट लिए हैं. इसके अलावा, उन्होंने 71 वनडे मैचों में 74 और 17 टी-20 मैचों में 18 विकेट लिए हैं. वह टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में 10वें सबसे सफलतम गेंदबाज हैं. उनका टेस्ट क्रिकेट में एक पारी में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 127 रन पर 9 विकेट और मैच में 184 रन देकर 14 विकेट है.

रंगना हैराथ का बतौर एक वरिष्ठ खिलाड़ी योगदान

रंगना हैराथ श्रीलंका की एक टीम का हिस्सा होने के साथ-साथ एक वरिष्ठ खिलाड़ी होने की भूमिका भी निभा रहे थे. महेला जयवर्धने और कुमार संगकारा के संन्यास के बाद वे टीम के सभी खिलाड़ियों को खेल भावना से खेल खेलने की सलाह भी देते रहे. यह काम इससे पहले संगकारा और जयवर्धने ने बखूबी किया.

रंगना हैराथ की कप्तानी

हैराथ ने 5 मैचों में श्रीलंका के टेस्ट टीम का नेतृत्व भी किया. बतौर कप्तान उन्होंने 36 विकेट लिये हैं.19 साल क्रिकेट खेलने वाले वाले रंगना हैराथ अब गॉल के ग्राउंड के मैच के बाद खेलते हुये नज़र नहीं आने वाले.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *